वे दिल्ला किसी दा इंतजार ना करया कर

वे दिल्ला किसी दा इंतजार ना करया कर
दिल दियां रमजां खोलण दी भुल्ल बार बार ना करया कर
एह जान लै कोई नई ए एइथे तेरा
किसे दे वादे ते ऐना ऐतबार ना करया कर।