Greetings Sms


रहे परदेस में तो वतन की याद आई,
खाई ठोकर तो माँ- बाप की याद आई.
दुश्मन मिले जिंदगी में बहुत,
लेकिन दोस्ती के नाम से बस आपकी याद आई.
तन्हाईयां जाने लगी जिंदगी मुस्कुराने लगी,
ना दिन का पता है ना रात का पता.
आप की दोस्ती की खुशबू हमे महकाने लगी,
एक पल तो करीब आ जाओ धड़कन भी आवाज़ लगाने लगी..
हर खुशी दिल के करीब नहीं होती,
जिंदगी गम से दूर नहीं होती.
सँजोकर रखना ये दोस्ती हमारी,
ये दोस्ती हर किसी को नसीब नहीं होती.
हम अपने पर गुरुर नहीं करते,
याद करने के लिए किसी को मजबूर नहीं करते.
मगर जब एक बार किसी को दोस्त बना ले,
तो उससे अपने दिल से दूर नहीं करते.
नमस्कार!
आपकी दोस्ती की बैटरी लो हो रही है,
कृपया आप 3 SMS करके तुंरत रिचार्ज करें!
फ्रॉम:
DSNL
(दोस्ती संचार निगम लिं.)
टूटे हुए ख्वाबों मे हक़ीक़त ढूंढता हूँ
पत्थर के दिलों मे मोहब्बत ढूंढता हूँ
नादान हूँ मैं अब तक यह नहीं समझा,
बेजान बातों मे इबादत ढूंढता हूँ.
चाँद छुप गया मुझे रात सौंप के
आँखों को इंतज़ार के लम्हे सौंप के
एक शख्स था जो मुझ से बिछड़ गया
आखों को मौसम ए बरसात सौंप के
दोस्तों ने दोस्ती मे रुला दिया,
क्या हुआ जो किसी और के लिए हमे भुला दिया,
हम तो वैसे भी अकेले थे,
क्या हुआ जो तुमने ये अहसास दिला दिया!
जिनके दिल पे लगती है चोट,
वो आँखों से नहीं रोते.
जो अपनों के ना हुए,
किसी के नही होते,
मेरे हालातों ने मुझे ये सिखाया है,
की सपने टूट जाते हैं पर पूरे नहीं होते..
खुशबू ने फूल को ख़ास बनाया
फूल ने माली को ख़ास बनाया
चाहत ने मोहब्बत को ख़ास बनाया
कम्बख़्त मोहब्बत ने कितनों को देवदास बनाया