Islamic Sms



गर्लफ्रेंड: तुम मेरे लिए क्या कर सकते हो?
पठान: क्या करना है बताओ?
गर्लफ्रेंड: चाँद तोड़कर ला सकते हो?
पठान: फिर ईद क्या तेरे बाप के टकले को देखकर मनायेंगे?

सूरज की किरणें, तारों की बहार;
चाँद की चांदनी, अपनों का प्यार;
आपका हर पल हो खुशहाल;
उसी तरह मुबारक हो आपको ईद का तयोहार।
ईद मुबारक!

ईद लेकर आती है ढेर सारी खुशियां;
ईद मिटा देती है इंसान में दूरियां;
ईद है ख़ुदा का एक नायाब तबारक;
और हम भी कहते हैं आपको ईद मुबारक।

ऐ चाँद उनको मेरा पैग़ाम कहना;
ख़ुशी का दिन हँसी की शाम कहना;
जब वो देखें तुम्हें आकर बाहर;
उनको मेरी तरफ से ईद मुबारक़ कहना।

सदा हँसते रहो जैसे हँसते हैं फूल;
दुनिया के सारे गम तुम जाओ भूल;
चारों तरफ फ़ैलाओ खुशियों के गीत;
इसी उम्मीद के साथ तुम्हें मुबारक हो ईद।
ईद मुबारक

चुपके से चाँद की रौशनी छू जाये आपको;
धीरे से ये हवा कुछ कह जाये आपको;
दिल से जो चाहते हो मांग लो खुदा से;
हम दुआ करते हैं वो मिल जाये आपको।
ईद मुबारक़!

आग़ाज़ ईद है, अंजाम ईद है;
सच्चाई पे चलो तो हर ग़म ईद है;
जिसने भी रखे रोज़े;
उन सब के लिए अल्लाह की तरफ से इनाम ईद है।
ईद मुबारक़!
जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना;
तारों का काम है बस चमकते रहना;
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना;
वैसे हमारा है काम अपनों की सलामती की दुआ करते रहना।
ईद मुबारक हो!

आज खुदा की हम पर हो मेहरबानी;
कर दे माफ़ हम लोगों की सारी नाफरमानी;
ईद का दिन आज आओ मिलकर करें यही वादा;
खुदा की ही राहों में मैं चलूं सदा अपना है ये इरादा।
ईद मुबारक!
मुन्ना भाई: सर्किट, आपुन को कैसे पता चलेगा कि वो सामने बकरा है या बकरी?
सर्किट: सिंपल भाई, पत्थर मार कर देख लो, अगर भागा तो बकरा, अगर भागी तो बकरी।
ईद मुबारक!